ऑल्ट न्यूज़ के सह-संस्थापक मोहम्मद जुबैर एक दिन की पुलिस हिरासत में भेजे गए

जुबैर के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 153ए और 295ए के तहत एक ट्वीट के लिए मामला दर्ज किया गया है, जिसे उन्होंने 2018 में किया था।
Mohammed Zubair
Mohammed Zubair

बुराड़ी में दिल्ली की एक अदालत ने सोमवार को धार्मिक समूहों के बीच दुश्मनी को बढ़ावा देने के एक कथित मामले में दिल्ली पुलिस को तथ्य-जांच वेबसाइट ऑल्ट न्यूज़ के सह-संस्थापक मोहम्मद जुबैर की एक दिन की पुलिस हिरासत में दे दिया।

ड्यूटी मजिस्ट्रेट अजय नरवाल ने जुबैर को एक दिन की पुलिस हिरासत में भेज दिया और इस हिरासत की अवधि समाप्त होने के बाद उन्हें कल फिर से अदालत में पेश किया जाएगा।

जुबैर पर 2018 में किए गए एक ट्वीट के लिए भारतीय दंड संहिता (आईपीसी) की धारा 153 ए (धार्मिक समूहों के बीच दुश्मनी को बढ़ावा देना) और 295 ए (धार्मिक भावनाओं को आहत करना) के तहत अपराध के लिए मामला दर्ज किया गया है।

जुबैर के खिलाफ मामला एक ट्विटर हैंडल से एक शिकायत के आधार पर दर्ज किया गया था जिसमें आरोप लगाया गया था कि जुबैर ने एक विशेष धर्म के भगवान का जानबूझकर अपमान करने के इरादे से एक संदिग्ध तस्वीर ट्वीट की थी।

दिल्ली पुलिस के एक बयान में कहा गया है, "इस तरह के ट्वीट्स को रीट्वीट किया जा रहा था और ऐसा प्रतीत होता है कि सोशल मीडिया संस्थाओं की एक ब्रिगेड है, जो अपमान करने में लिप्त हैं, जिससे सांप्रदायिक सद्भाव पर संभावित प्रभाव पड़ता है और यह सार्वजनिक शांति बनाए रखने के खिलाफ है।"

सुनवाई के दौरान पुलिस ने जुबैर के जांच में सहयोग नहीं करने के आधार पर सात दिन की हिरासत मांगी थी।

विरोधी पक्ष ने तर्क दिया कि पुलिस के पास उसे हिरासत में लेने का कोई आधार नहीं है क्योंकि वह जांच में विधिवत सहयोग कर रहा है।

पुलिस के मुताबिक, जुबैर सोमवार को दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल द्वारा दर्ज की गई 2020 की प्राथमिकी में जांच में शामिल हुआ था।

उक्त प्राथमिकी की जांच के दौरान दिल्ली पुलिस ने उच्च न्यायालय के समक्ष स्थिति रिपोर्ट देते हुए कहा था कि जुबैर का ट्वीट आपत्तिजनक नहीं पाया गया।

हालांकि, 2018 के एक और ट्वीट को दिल्ली पुलिस को हरी झंडी दिखाई गई।

इसी के तहत आज की गिरफ्तारी हुई है।

और अधिक पढ़ने के लिए नीचे दिये गए लिंक पर क्लिक करें


Alt News co-founder Mohammed Zubair remanded to one-day police custody

Hindi Bar & Bench
hindi.barandbench.com