90% किसान SC आदेश के बाद विरोध प्रदर्शन जारी रखने के पक्ष मे नही है, निहित स्वार्थ देश को अस्थिर करने की कोशिश कर रहे है: BCI

पत्र में कहा गया है कि सुप्रीम कोर्ट के खिलाफ कुछ राजनेताओं द्वारा की गई गैरजिम्मेदाराना टिप्पणी बेबुनियाद है और आंदोलन को आगे बढ़ाने और आंदोलनकारी किसानों को गुमराह करने के लिए बनाई गई है।
90% किसान SC आदेश के बाद विरोध प्रदर्शन जारी रखने के पक्ष मे नही है, निहित स्वार्थ देश को अस्थिर करने की कोशिश कर रहे है: BCI
BCI Chairman, Manan Kumar Mishra

बार काउंसिल ऑफ इंडिया (BCI) ने दावा किया है कि सुप्रीम कोर्ट द्वारा मंगलवार को तीन फार्म कानूनों पर रोक लगाने के बाद, 90 प्रतिशत शांतिप्रिय किसान आंदोलन जारी रखने के पक्ष में नहीं हैं

बुधवार को जारी एक प्रेस बयान में, बीसीआई ने सुप्रीम कोर्ट के स्थगन आदेश को ऐतिहासिक बताया है और इसका उद्देश्य आंदोलनकारी किसानों, बुजुर्गों, महिलाओं और बच्चों की जान बचाना है।

पत्र में कहा गया है कि सुप्रीम कोर्ट के खिलाफ कुछ राजनेताओं द्वारा की गई गैर जिम्मेदाराना टिप्पणी दुर्भाग्यपूर्ण, असंवेदनशील, निराधार है, जो अपने निहित स्वार्थों को आगे बढ़ाने के लिए और आंदोलन का फायदा उठाने और आंदोलनकारी किसानों को गुमराह करने के मकसद से की गई है।

बीसीआई अध्यक्ष मनन कुमार मिश्रा द्वारा हस्ताक्षरित पत्र मे कहा गया है कि “हर कोई जानता है कि 90% शांतिप्रिय किसान सर्वोच्च न्यायालय के स्थगन आदेश के बाद आंदोलन जारी रखने के पक्ष में नहीं हैं, लेकिन निहित स्वार्थ वाले व्यक्ति देश को तबाह करने की कीमत पर भी अपनी राजनीतिक महत्वाकांक्षा को पूरा करने की कोशिश कर रहे हैं।"

इसलिए, मिश्रा ने ईमानदार और समझदार नागरिकों को आह्वान किया कि वे आंदोलनकारी किसानों को इस मामले में सर्वोच्च न्यायालय के अंतिम निर्णय तक अपना आंदोलन स्थगित करने के लिए मना लें।

[पत्र पढ़ें]

Attachment
PDF
Letter_dated_13_01_2021.pdf
Preview

और अधिक पढ़ने के लिए नीचे दिये गए लिंक पर क्लिक करें

90% peace-loving farmers not in favour of continuing with protests after SC order, vested interests trying to "destabilise" country: BCI

No stories found.
Hindi Bar & Bench
hindi.barandbench.com