कॉलेजियम ने राजस्थान HC के जजो के रूप मे 3 वकीलो, 3 न्यायिक अधिकारियो की सिफारिश की; 1 वकील को पदोन्नत करने की सिफारिश दोहराई

बुधवार, 1 सितंबर को हुई बैठक के बाद इस संबंध में कॉलेजियम के बयान जारी किए गए।
कॉलेजियम ने राजस्थान HC के जजो के रूप मे 3 वकीलो, 3 न्यायिक अधिकारियो की सिफारिश की; 1 वकील को पदोन्नत करने की सिफारिश दोहराई

सुप्रीम कोर्ट कॉलेजियम ने राजस्थान उच्च न्यायालय के न्यायाधीशों के रूप में तीन अधिवक्ताओं और तीन न्यायिक अधिकारियों की पदोन्नति की सिफारिश की है।

बुधवार, 1 सितंबर को हुई बैठक के बाद इस संबंध में कॉलेजियम के बयान जारी किए गए।

उच्च न्यायालय के न्यायाधीश के रूप में नियुक्ति के लिए अनुशंसित अधिवक्ताओं में गणेश राम मीणा, सुदेश बंसल और अनूप ढंड हैं।

उच्च न्यायालय में पदोन्नति के लिए प्रस्तावित न्यायिक अधिकारी उमा शंकर व्यास, विनोद कुमार भरवानी और मदन गोपाल व्यास हैं।

इनके अलावा, कॉलेजियम ने एडवोकेट फरजांद अली को जज के रूप में पदोन्नत करने की अपनी सिफारिश दोहराई है।

राजस्थान उच्च न्यायालय में वर्तमान में 27 रिक्तियों के मुकाबले 23 न्यायाधीशों की कार्यशील संख्या है। यदि प्रस्तावित नामों की केंद्र सरकार द्वारा पुष्टि की जाती है, तो उच्च न्यायालय की कार्य शक्ति 50 न्यायाधीशों की स्वीकृत संख्या के मुकाबले 30 न्यायाधीशों तक बढ़ जाएगी।

[कॉलेजियम स्टेटमेंट पढ़ें]

Attachment
PDF
Collegium_Resolution_Rajasthan_High_Court_1.pdf
Preview
Attachment
PDF
Collegium_Resolution___Rajasthan_High_Court_2.pdf
Preview
Attachment
PDF
Advocates_elevation_Collegium_September_1.pdf
Preview

और अधिक पढ़ने के लिए नीचे दिये गए लिंक पर क्लिक करें


Collegium recommends 3 advocates, 3 judicial officers as Rajasthan High Court judges; reiterates recommendation to elevate 1 lawyer

Hindi Bar & Bench
hindi.barandbench.com