COVID19: SC के 150 रजिस्ट्री अधिकारियो, कर्मचारियो के पॉज़िटिव होने के बाद SCBA ने वकीलो से आग्रह किया कि वे कोर्ट जाने से बचे

सुप्रीम कोर्ट के कम से कम चार न्यायाधीशों ने भी कोविड -19 के लिए सकारात्मक परीक्षण किया था और अदालत ने प्रतिबंधित तरीके से काम करने का फैसला किया है।
COVID19: SC के 150 रजिस्ट्री अधिकारियो, कर्मचारियो के पॉज़िटिव होने के बाद SCBA ने वकीलो से आग्रह किया कि वे कोर्ट जाने से बचे

सुप्रीम कोर्ट के कम से कम चार न्यायाधीशों ने भी कोविड -19 के लिए सकारात्मक परीक्षण किया था और अदालत ने कल से प्रतिबंधित तरीके से काम करने का फैसला किया है।

इसलिए SCBA ने वकीलों से सुप्रीम कोर्ट के उच्च सुरक्षा क्षेत्र में प्रवेश नहीं करने का आग्रह किया।

संदेश में कहा गया है कि हालांकि कोर्ट की ओर से कोई आधिकारिक सर्कुलर या निर्देश नहीं है, जिसमें वकीलों के हाई सिक्योरिटी जोन में प्रॉक्सिमिटी कार्ड का इस्तेमाल करने पर रोक लगाई गई है, लेकिन यह सलाह दी जाएगी कि जब तक बेहद जरूरी न हो, कोर्ट के हाई सिक्योरिटी जोन में प्रवेश न करें।

नोट मे कहा गया है कि "उन्होंने अभी तक ऐसा कोई परिपत्र जारी नहीं किया है और इसलिए निकटता कार्ड के माध्यम से प्रवेश जारी रहेगा। मैंने (एससीबीए के सचिव) ने आश्वासन दिया है कि हम स्व-विनियमन करेंगे और कोविड -19 वायरस के प्रसार से बचने के लिए सभी आवश्यक एहतियाती उपाय करेंगे।

हालांकि, जैसा कि हम सभी जानते हैं कि सुप्रीम कोर्ट की रजिस्ट्री के 150 से ज्यादा कर्मचारी कोविड पॉजिटिव पाए गए हैं। मैं आप सभी से तहे दिल से अनुरोध करता हूं कि जब तक (एसआईसी) बहुत जरूरी न हो, उच्च सुरक्षा क्षेत्र में प्रवेश करने से बचें क्योंकि इससे कड़े कदम उठाए जा सकते हैं।"

यह भी कहा कि किसी भी प्रश्न के संबंध में संचार के लिए कल तक कोर्ट रजिस्ट्री द्वारा हेल्पलाइन नंबर जारी किए जाएंगे।

संदेश में कहा गया है, "यह आश्वासन दिया गया है कि रजिस्ट्री के कर्मचारियों द्वारा कॉल में भाग लिया जाएगा ताकि हमारे सदस्यों को कोई असुविधा न हो।"

सुप्रीम कोर्ट के कम से कम चार न्यायाधीशों ने भी कोविड -19 के लिए सकारात्मक परीक्षण किया था और अदालत ने कल से प्रतिबंधित तरीके से काम करने का फैसला किया है।

6 जनवरी को की गई घोषणा के अनुसार, 10 जनवरी, सोमवार से मामलों की सुनवाई वर्चुअल मोड के माध्यम से पूरी होगी, जिसमें न्यायाधीश अदालत के बजाय अपने आवास से वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से सुनवाई के लिए शामिल होंगे।

महत्वपूर्ण बात यह है कि 10 जनवरी से केवल अति आवश्यक 'उल्लेखित' मामलों, ताजा मामलों, जमानत मामलों, स्थगन, नजरबंदी मामलों और निश्चित तारीख के मामलों की सुनवाई होगी।

कई उच्च न्यायालयों ने भी COVID मामलों में वृद्धि के कारण वर्चुअल सुनवाई का सहारा लिया है।

बॉम्बे, उत्तराखंड, कलकत्ता और इलाहाबाद उच्च न्यायालयों सहित विभिन्न उच्च न्यायालयों के न्यायाधीशों ने भी COVID के लिए सकारात्मक परीक्षण किया है।

और अधिक पढ़ने के लिए नीचे दिये गए लिंक पर क्लिक करें


[COVID-19] SCBA urges lawyers to avoid going to court after 150 Supreme Court registry officials, staff test positive

Related Stories

No stories found.
Hindi Bar & Bench
hindi.barandbench.com