गुजरात हाईकोर्ट एडवोकेट्स एसोसिएशन ने हड़ताल वापस लेने का फैसला किया, कल से फिर से शुरू होगा काम

भारत के मुख्य न्यायाधीश धनंजय चंद्रचूड़ ने हड़ताली वकीलों को अपना विरोध वापस लेने के लिए कहा था, इसी तरह का अनुरोध मुख्य न्यायाधीश अरविंद कुमार ने सोमवार को किया था।
empty court rooms in Gujarat HC
empty court rooms in Gujarat HC

गुजरात हाईकोर्ट एडवोकेट्स एसोसिएशन ने मंगलवार को अपनी अनिश्चितकालीन हड़ताल को वापस लेने का फैसला किया, जो 17 नवंबर को न्यायमूर्ति निखिल एस कारियल के पटना उच्च न्यायालय में प्रस्तावित स्थानांतरण के विरोध में शुरू हुई थी।

जीएचसीएए के सचिव एडवोकेट हार्दिक ब्रह्मभट्ट ने बार एंड बेंच को घटनाक्रम की पुष्टि की।

उन्होंने कहा, "हमारी आम सभा की आज सुबह बैठक हुई। हमने हड़ताल खत्म करने का फैसला किया है। लेकिन यह कल (बुधवार) से होगी। हम आज भी काम से दूर रहेंगे।"

जीएचसीएए के प्रतिनिधि गुजरात उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश अरविंद कुमार से मुलाकात कर उन्हें विकास के बारे में जानकारी देंगे।

भारत के मुख्य न्यायाधीश (सीजेआई) डी वाई चंद्रचूड़ ने सोमवार को उनसे अपनी हड़ताल वापस लेने के लिए कहने के बाद जीएचसीएए की आम सभा की आज सुबह बैठक की। CJI ने उन्हें यह भी आश्वासन दिया था कि सुप्रीम कोर्ट कॉलेजियम न्यायमूर्ति करील के प्रस्तावित स्थानांतरण के खिलाफ वकीलों के निकाय द्वारा उठाए गए मुद्दों पर गौर करेगा।

न्यायमूर्ति निखिल करियल को पटना उच्च न्यायालय में स्थानांतरित करने के लिए सुप्रीम कोर्ट कॉलेजियम की सिफारिश के बाद जीएचसीएए पिछले सप्ताह गुरुवार से विरोध प्रदर्शन कर रहा है।

जीएचसीएए के सात सदस्यों के एक प्रतिनिधिमंडल ने सोमवार को भारत के मुख्य न्यायाधीश डी वाई चंद्रचूड़ से मुलाकात की और प्रस्तावित स्थानांतरण पर अपनी चिंताओं को व्यक्त किया। CJI ने विरोध कर रहे वकीलों को आश्वासन दिया है कि वह उनकी आपत्तियों पर गौर करेंगे और उन्हें अदालत का काम फिर से शुरू करने के लिए कहा है।

तेलंगाना उच्च न्यायालय अधिवक्ता संघ, जो इसी तरह न्यायमूर्ति ए अभिषेक रेड्डी के पटना उच्च न्यायालय के प्रस्तावित स्थानांतरण का विरोध कर रहा था, ने भी मुख्य न्यायाधीश से मुलाकात के बाद अपनी हड़ताल वापस ले ली थी।

और अधिक पढ़ने के लिए नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें


Gujarat High Court Advocates' Association decides to call off strike, will resume work from tomorrow

Hindi Bar & Bench
hindi.barandbench.com