[CLAT 2021] NLU कंसोर्टियम ने पूर्व मुख्य न्यायाधीश राजेंद्र बाबू की अध्यक्षता मे 5 सदस्यीय शिकायत निवारण समिति का गठन किया

[CLAT 2021] NLU कंसोर्टियम ने पूर्व मुख्य न्यायाधीश राजेंद्र बाबू की अध्यक्षता मे 5 सदस्यीय शिकायत निवारण समिति का गठन किया

CLAT 2021 23 जुलाई को आयोजित किया गया था और परिणाम 28 जुलाई को घोषित किए गए थे।

कॉमन लॉ एडमिशन टेस्ट (CLAT) 2021 से संबंधित शिकायतों के निवारण के लिए नेशनल लॉ यूनिवर्सिटीज के कंसोर्टियम द्वारा भारत के पूर्व मुख्य न्यायाधीश राजेंद्र बाबू की अध्यक्षता में पांच सदस्यीय शिकायत निवारण समिति का गठन किया गया है।

समिति में इसके सदस्य/संयोजक के रूप में निम्नलिखित भी शामिल हैं:

  • प्रोफेसर श्री कृष्ण देव राव, कुलपति, राष्ट्रीय विधि विश्वविद्यालय, दिल्ली ;

  • प्रोफेसर बलराज चौहान, पूर्व कुलपति RMLNLU, NLIU, और MPDNLU;

  • प्रो. रवि कुमार, पूर्व प्रोफेसर आईआईटी बॉम्बे;

  • प्रो. फैजान मुस्तफा, कुलपति NALSAR (संयोजक)।

CLAT 2021 23 जुलाई को आयोजित किया गया था और परिणाम 28 जुलाई को घोषित किए गए थे।

इससे पहले, इस साल के कॉमन लॉ एडमिशन टेस्ट (CLAT 2021) के लिए गठित ओवरसाइट कमेटी ने CLAT के अंडरग्रेजुएट पेपर के एक प्रश्न को हटाने और दो उत्तरों के संशोधन की सिफारिश की थी।

CLAT 2021 के संयोजक प्रोफेसर विजेंद्र कुमार द्वारा हस्ताक्षरित एक प्रेस विज्ञप्ति में कहा गया है कि यूजी पेपर में 61 प्रश्नों और उत्तरों पर कुल 1,026 आपत्तियां प्राप्त हुई थीं।

नेशनल लॉ यूनिवर्सिटीज (NLU) के कंसोर्टियम ने ओवरसाइट कमेटी की सिफारिशों को स्वीकार कर लिया था और उसी के अनुसार CLAT 2021 के लिए अंतिम उत्तर कुंजी जारी करेगा।

[अधिसूचना पढ़ें]

Attachment
PDF
Grievance_Redressal_Committee.pdf
Preview

और अधिक पढ़ने के लिए नीचे दिये गए लिंक पर क्लिक करें


[CLAT 2021] Consortium of NLUs constitutes 5-member Grievance Redressal Committee headed by former Chief Justice of India Rajendra Babu

Related Stories

No stories found.