SC ने टीवी चैनलो के खिलाफ शिकायतो पर फैसला के लिए मीडिया ट्रिब्यूनल का गठन की मांग वाली याचिका पर केंद्र से प्रतिक्रिया मांगी

याचिका में दावा किया गया कि सूचना और प्रसारण मंत्रालय अपने कर्तव्यों और कार्यक्रम संहिता के प्रवर्तन के निर्वहन में पूरी तरह से विफल रहा है, जिसके लिए टेलीविजन चैनलों का पालन करने की उम्मीद है।
SC ने टीवी चैनलो के खिलाफ शिकायतो पर फैसला के लिए मीडिया ट्रिब्यूनल का गठन की मांग वाली याचिका पर केंद्र से प्रतिक्रिया मांगी
Media Trial

फिल्म निर्माता और सामाजिक कार्यकर्ता, नीलेश नवलखा और कार्यकर्ता नितिन मेमन की याचिका में दावा किया गया है कि सूचना और प्रसारण मंत्रालय, भारत संघ, कार्यक्रम कोड के अपने कर्तव्यों और प्रवर्तन के निर्वहन में पूरी तरह से विफल रहा है, जिसका टेलीविजन चैनलों को पालन करने की उम्मीद है।

न्यायिक रूप से अनियमित मीडिया-व्यवसाय का उपयोग राजनेताओं, पुलिस अधिकारियों और अन्य सार्वजनिक अधिकारियों द्वारा किया जा सकता है जो अपने हितों को आगे बढ़ाने और जनता की राय को प्रभावित करने के लिए प्रचार करना चाहते हैं।

याचिकाकर्ताओं ने यह भी कहा कि ऐसे चैनलों का स्व-विनियमन जवाब नहीं हो सकता है।

संपूर्ण स्व-नियामक प्रक्रिया इलेक्ट्रॉनिक मीडिया प्रसारक को अपने मामले में न्यायाधीश बनाती है, जिससे हमारे संविधान में निहित कानून के शासन को पूरी तरह से नकार दिया गया

भारत के मुख्य न्यायाधीश एसए बोबडे और जस्टिस ए एस बोपन्ना और वी. रामासुब्रमण्यन की तीन-न्यायाधीश पीठ ने याचिका पर नोटिस जारी किया जिसमें यह भी प्रार्थना की गई कि दिशानिर्देशों को व्यापक नियामक प्रतिमान के रूप में जारी किया जाए, जिसमें घरों, अर्थात, प्रसारकों और इलेक्ट्रॉनिक मीडिया, अनुच्छेद 19 (1) के तहत उनके अधिकारों का प्रयोग कर सकते हैं, ताकि न्यायिक रूप से उसी को विनियमित किया जा सके।

दलील, यह स्पष्ट किया गया कि मीडिया-व्यवसाय के मौलिक अधिकारों पर अंकुश लगाना नहीं है, बल्कि केवल गलत सूचना, भड़काऊ कवरेज, फर्जी समाचार, गोपनीयता के उल्लंघन आदि के लिए कुछ जवाबदेही लाना है, जिसे मीडिया-व्यवसाय ने लिप्त कर दिया है।

और अधिक पढ़ने के लिए नीचे दिये गए लिंक पर क्लिक करें

[BREAKING] Supreme Court seeks response from Central Govt in plea to constitute Media Tribunal to adjudicate complaints against media/TV channels

No stories found.
Hindi Bar & Bench
hindi.barandbench.com