SC ने कोविड मुद्दो पर स्व संज्ञान लिया, उच्च न्यायालयो से मामले स्थानांतरित किए जा सकते है; हरीश साल्वे को एमिकस नियुक्त किया

न्यायालय ने कहा कि वह यह जांच करेगा कि विभिन्न उच्च न्यायालयों के समक्ष लंबित मुद्दों को सुप्रीम कोर्ट मे स्थानांतरित किए जाने चाहिए या नहीं।
Supreme Court
Supreme Court

सुप्रीम कोर्ट ने COVID-19 महामारी से उत्पन्न होने वाले मुद्दों और विभिन्न राज्यों में सामने आए संकट के प्रबंधन से संबंधित एक सू मोटू मामला दर्ज किया है।

चीफ जस्टिस ऑफ इंडिया एसए बोबडे की अध्यक्षता वाली बेंच ने मामले में कोर्ट की सहायता के लिए हरीश साल्वे को एमिकस क्यूरी के रूप में नियुक्त किया।

कोर्ट ने कहा कि COVID प्रबंधन से उत्पन्न मुद्दों से निपटने वाले छह उच्च न्यायालय भ्रम पैदा कर रहे थे।

हम एक अदालत के रूप में कुछ मुद्दों के आत्म-प्रेरणा संज्ञान लेना चाहते हैं। हम पाते हैं कि 6 उच्च न्यायालय दिल्ली, बॉम्बे सिक्किम, एमपी, कलकत्ता और इलाहाबाद हैं, वे सर्वोत्तम हित में अधिकार क्षेत्र का उपयोग कर रहे हैं।

इसलिए कहा गया कि यह चार मुद्दों पर नोटिस जारी करेगा:

- ऑक्सीजन की आपूर्ति;

- आवश्यक दवाओं की आपूर्ति;

- टीकाकरण की विधि, तरीका और

- लॉकडाउन घोषित करने की शक्ति।

कोर्ट ने कहा, “हम चाहते हैं कि लॉकडाउन की शक्ति राज्यों के पास होनी चाहिए और न्यायिक निर्णय नहीं होना चाहिए। हम इन मुद्दों पर केंद्र सरकार को नोटिस जारी करते हैं।“

मामले की सुनवाई कल फिर होगी जब केवल केंद्र सरकार और एमिकस क्यूरी की सुनवाई होगी।

और अधिक पढ़ने के लिए नीचे दिये गए लिंक पर क्लिक करें


[BREAKING] Supreme Court takes suo motu cognizance of COVID-19 issues, might transfer cases from High Courts; Harish Salve appointed Amicus

Hindi Bar & Bench
hindi.barandbench.com