इंदौर मे मध्यप्रदेश उच्च न्यायालय के न्यायाधीशों, वकीलों ने सार्वजनिक परिवहन, दोपहिया वाहनों का उपयोग करके 'नो कार डे' मनाया

इस पहल की शुरुआत इंदौर के मेयर पुष्यमित्र भार्गव ने की, जिन्होंने शहर को वायु गुणवत्ता और स्वच्छता के मामले में सबसे आगे रहने का आह्वान किया।
No Car Day
No Car Day

मध्य प्रदेश उच्च न्यायालय के न्यायाधीश और जन प्रतिनिधि इंदौर के उन लोगों में से थे, जिन्होंने पिछले सप्ताह शहर के 'नो कार डे' के हिस्से के रूप में कारों के बजाय सार्वजनिक परिवहन का विकल्प चुना, जो कि इसके महापौर द्वारा प्रचारित एक पहल थी।

न्यायाधीशों, वकीलों और जन प्रतिनिधियों ने सार्वजनिक परिवहन या दोपहिया वाहनों का उपयोग करके अपने कार्यालयों तक यात्रा की। जानकार वकीलों ने बताया कि जिला अदालत के न्यायाधीशों ने अदालत तक पहुंचने के लिए साइकिल भी चलाई।

महापौर पुष्यमित्र भार्गव ने 22 सितंबर को इंदौर में नो कार डे मनाने के लिए सभी से अपनी कारों का उपयोग नहीं करने का आग्रह किया था।

उन्होंने कहा था कि शहर को वायु गुणवत्ता और स्वच्छता के मामले में सबसे आगे रहने की जरूरत है।

मध्य प्रदेश उच्च न्यायालय की इंदौर पीठ ने भी अपने कर्मचारियों, न्यायाधीशों और वकीलों को कारों के बजाय वैकल्पिक परिवहन का उपयोग करने के लिए प्रोत्साहित करते हुए एक नोटिस जारी किया था।

और अधिक पढ़ने के लिए नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें


Madhya Pradesh High Court judges, lawyers in Indore mark 'No Car Day' by using public transport, two-wheelers

Related Stories

No stories found.
Hindi Bar & Bench
hindi.barandbench.com