[POCSO] कर्नाटक उच्च न्यायालय ने अपनी 14 वर्षीय बेटी के साथ बलात्कार करने वाले पिता को 10 साल की जेल का आदेश दिया

अदालत ने कहा कि निचली अदालत ने पीड़िता समेत गवाहों को उनके मुख्य परीक्षा के 7 महीने बाद जिरह के लिए वापस बुलाने की अनुमति देने में गलती की थी।
[POCSO] कर्नाटक उच्च न्यायालय ने अपनी 14 वर्षीय बेटी के साथ बलात्कार करने वाले पिता को 10 साल की जेल का आदेश दिया
Karnataka High Court, POCSO Act

कर्नाटक उच्च न्यायालय की धारवाड़ खंडपीठ ने हाल ही में अपनी 14 वर्षीय बेटी के यौन उत्पीड़न के आरोपी एक व्यक्ति को दोषी ठहराया। [कर्नाटक राज्य बनाम आसिफ रसूलसाब सनदी]

न्यायमूर्ति एचटी नरेंद्र प्रसाद और न्यायमूर्ति राजेंद्र बादामीकर की खंडपीठ ने एक विशेष अदालत की बरी को पलट दिया और आरोपी को भारतीय दंड संहिता की धारा 376(1) के तहत बलात्कार के अपराधों के लिए 10 साल के कठोर कारावास और ₹50,000 के जुर्माने की सजा सुनाई और यौन अपराधों से बच्चों के संरक्षण अधिनियम (POCSO) की धारा 6 के तहत गंभीर भेदन यौन उत्पीड़न की सजा सुनाई।

हाई कोर्ट ने आरोपी को दोषी ठहराते हुए कहा, "अदालत इस तरह के अमानवीय कृत्य से नन्हे-मुन्नों को हुए आघात को नज़रअंदाज़ नहीं कर सकती। ऐसे मामलों में अदालतों को बहुत संवेदनशील होना चाहिए, जब पीड़ित के साक्ष्य सुसंगत और विश्वसनीय हों। ऐसी परिस्थितियों में विचारण न्यायालय का सम्पूर्ण दृष्टिकोण त्रुटिपूर्ण, विकृत, मितव्ययी है तथा प्रारम्भिक चरण से ही विचारण न्यायालय ने पीड़िता के विरूद्ध पक्षपातपूर्ण विचार से कार्यवाही की है, जिसे स्वीकार नहीं किया जा सकता है।"

[निर्णय पढ़ें]

Attachment
PDF
State_of_Karnataka_v_Asif_Rasoolsab_Sanadi.pdf
Preview

और अधिक पढ़ने के लिए नीचे दिये गए लिंक पर क्लिक करें


[POCSO] Karnataka High Court orders 10 year jail for father who raped his 14-year-old daughter

Hindi Bar & Bench
hindi.barandbench.com