(भीमा कोरेगांव) स्टेन स्वामी को स्ट्रा, सिपर और सभी चिकित्सा सुविधायें मुहैया कराई गयी हैं: अतिरक्त पुलिस महानिदेशक

एडीजे ने कहा कि भीमा कोरेगांव के आरोपी स्टेन स्वामी को स्ट्रा, सिपर और चिकित्सीय सहायता सहित सारी बुनियादी सुविधायें उपलब्ध कराई जा रही हैं। स्वामी इस समय मुंबई के जेल अस्पताल में हैं।
(भीमा कोरेगांव) स्टेन स्वामी को स्ट्रा, सिपर और सभी चिकित्सा सुविधायें मुहैया कराई गयी हैं: अतिरक्त पुलिस महानिदेशक
Father Stan Swamy

अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक सुनील रामानंद ने बार एंड बेच को बताया कि भीमा कोरेगांव में 2018 की हिंसा मामले में आरोपी फादर स्टेन स्वामी को जेल अस्पताल में स्ट्रा, सिपर और चिकित्सीय सहायता सहित सारी बुनियादी सुविधायें उपलब्ध कराई जा रही है

रामानंद ने बताया कि तलोजा जेल अस्पताल में स्वामी को सभी आवश्यक चिकित्सीय सुविधायें उपलब्ध कराई जा रही है। स्वामी को सिपर मग, एक सिपर बोतल और स्ट्रा भी उपलब्ध कराया जा रहा है।

खबरों के अनुसार गृह राज्य मंत्री सतेज पाटिल ने भी स्वामी को जेल नियमों के अनुसार उचित सुविधायें प्रदान किये जाने की पुष्टि की है।

राष्ट्रीय जांच एजेन्सी ने 83 वर्षीय स्वामी को आठ अक्टूबर को उनके रांची स्थित आवास से गिरफ्तार किया गया था। उन पर भीमा कोरेगांव में 2018 की हिंसा के लिये उकसाने का आरोप है।उन्हें बाद में न्यायिक हिरासत में सौंपते हुये तलोजा जेल भेज दिया गया था। बाद में उनके गिरते स्वास्थ्य को देखते हुये उन्हें जेल अस्पताल में स्थानांतरित कर दिया गया था।

स्वामी ने एनआईए की अदालत में एक आवेदन दायर कर आरोप लगाया था कि एनआईए ने उनके स्ट्रा और सिपर सहित सामान जब्त कर लिया है। स्वामी ने दावा किया था कि चूंकि वह परकिंसन की बीमारी से पीड़ित है, इसलिए उन्हें स्ट्रा और सिपर बोतल के बगैर तरल पदार्थ का सेवन करने में परेशानी होती है।

एनआईए की अदालत को एनआईए ने बताया कि उसने स्वामी का कोई भी सामान नहीं लिया है। इसके बाद, एनआईए अदालत ने स्वामी का सामान दिलाने के लिये दायर उनकी अर्जी 26 नवंबर को खारिज कर दी थी।

स्वामी के वकील शरीफ शेख ने इसके तुरंत बाद एक नई अर्जी दायर कर जेल अधिकारियों से स्वामी को उनके खर्च पर स्ट्रा और सिपर उपलब्ध कराने का अनुरोध किया।

न्यायालय ने जेल प्राधिकारियों से इस नई अर्जी पर चार दिसंबर, 2020 तक जवाब मांगा है।

इस बीच, जेल अधिकारियों ने राज्य मानव अधिकार आयोग को अपने जवाब में बताया कि स्वामी को नियमित दवायें, उचित भोजन, बिस्तर, गर्म पानी उपलब्ध कराया जा रहा है। उन्होंने यह भी कहा कि स्वामी की मदद के लिये दो सहायक भी उपलब्ध कराये गये हैं क्येाकि वह परकिंसन से पीड़ित हैं।

स्वामी के वकील शेख इस बारे में टिप्पणी के लिये उपलब्ध नहीं थे जबकि एनआईए का प्रतिनिधित्व करने वाले वकील प्रकाश शेट्टी ने इस पर कोई टिप्पणी करने से इंकार कर दिया क्योंकि यह मामला एनआईए से नहीं बल्कि जेल प्राधिकारियों से संबंधित था।

और अधिक जानकारी के लिए नीचे दिये गए लिंक पर क्लिक करें

[Bhima Koregaon] Straw and sipper, all medical facilities provided to Stan Swamy: Additional Director General of Police

No stories found.
Hindi Bar & Bench
hindi.barandbench.com