कृषि कानून निरसन अधिनियम 2021 को राष्ट्रपति की मंजूरी [राजपत्र अधिसूचना पढ़ें]

विवादास्पद कृषि कानूनों को निरस्त करने वाला विधेयक लोकसभा और राज्यसभा में एक ही दिन बिना किसी चर्चा के और ध्वनि मत से पारित कर दिया गया।
Farm Laws
Farm Laws

कृषि कानून निरसन अधिनियम 2021, जिसका उद्देश्य तीन विवादास्पद कृषि कानूनों को निरस्त करना है, को 30 नवंबर को राष्ट्रपति की स्वीकृति प्राप्त हुई।

इस संबंध में प्रकाशित गजट अधिसूचना अधिनियम का उद्देश्य प्रदान करती है, जिसमें लिखा है:

"मूल्य आश्वासन और कृषि सेवा अधिनियम, 2020, किसान उत्पाद व्यापार और वाणिज्य (संवर्धन और सुविधा) अधिनियम, 2020, आवश्यक वस्तु (संशोधन) अधिनियम, 2020 और आवश्यक वस्तु अधिनियम, 1955 में संशोधन करें।"

लोकसभा ने 29 नवंबर को केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र तोमर द्वारा पेश किए गए कृषि कानून निरसन विधेयक को पारित किया था। विधेयक को पेश किए जाने के आठ मिनट के भीतर निचले सदन में बिना किसी चर्चा के और ध्वनि मत से पारित कर दिया गया।

उसी दिन, विधेयक को इसी तरह राज्य सभा में पारित किया गया था।

निरसन विधेयक 2021 के पेश होने से पहले राज्यसभा के उपसभापति हरिवंश नारायण ने विपक्ष के नेता मल्लिकार्जुन खड़गे को कुछ मिनटों के लिए बोलने की अनुमति दी थी।

खड़गे ने कहा, "इन कानूनों के खिलाफ आंदोलन के दौरान 700 से अधिक मौतें हुई हैं। सरकार ने आगामी चुनावों के मद्देनजर इन कानूनों को वापस ले लिया है।"

केंद्र सरकार ने 1 दिसंबर को संसद को सूचित किया कि उसके पास तीन विवादास्पद कृषि कानूनों के खिलाफ दिल्ली के बाहर प्रदर्शन कर रहे किसानों की मौत का कोई रिकॉर्ड नहीं है।

तोमर ने एक संसदीय प्रश्न के जवाब में संसद को सूचित किया था, "कृषि और किसान कल्याण मंत्रालय के पास मौतों के मामले में कोई रिकॉर्ड नहीं है और इसलिए मुआवजे का सवाल ही नहीं उठता।"

तीन विवादास्पद कृषि कानूनों को वापस लेने के निर्णय की घोषणा सबसे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 19 नवंबर को राष्ट्र के नाम एक विशेष संबोधन में की थी।

12 जनवरी को सुप्रीम कोर्ट ने 3 कृषि कानूनों के क्रियान्वयन पर रोक लगा दी थी। शीर्ष अदालत ने सभी पक्षों और हितधारकों को सुनने के लिए एक समिति के गठन का आदेश दिया था और उसी पर अदालत को एक रिपोर्ट सौंपने का आदेश दिया था। इसके बाद समिति ने मार्च में अपनी रिपोर्ट सौंप दी थी।

[राजपत्र अधिसूचना पढ़ें]

Attachment
PDF
Farm_Laws_Repeal_Act_2021.pdf
Preview

और अधिक पढ़ने के लिए नीचे दिये गए लिंक पर क्लिक करें


Farm Laws Repeal Act 2021 gets Presidential assent [Read Gazette Notification]

Hindi Bar & Bench
hindi.barandbench.com